75 साल “आज़ादी का अमृत महोत्सव”,नेशनल इंश्योरेन्स कंपनी लिमिटेड क्षेत्रीय कार्यालय, रायपुर (छ. ग) के प्रावधान से प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत हितग्राही श्रीमती रेवती पटेल को दो लाख रुपये दुर्घटना बीमा का भुगतान किया गया l

Report manpreet singh

Raipur chhattisgarh VISHESH : 75 साल “आज़ादी का अमृत महोत्सव”, पर भारत सरकार की पहल पर नेशनल इंश्योरेन्स कंपनी लिमिटेड क्षेत्रीय कार्यालय, मोबिन महत, द्वितीय तल, जी.ई. रोड, रायपुर-492001 के प्रावधान से प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत नेशनल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड क्षेत्रीय कार्यालय एवं मंडल कार्यालय की ओर से क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक शाखा कार्यालय हितग्राही श्रीमती रेवती पटेल जी (नॉमिनी) को दो लाख रुपये दुर्घटना बीमा का भुगतान नेशनल इंश्योरेन्स कंपनी लिमिटेड क्षेत्रीय कार्यालय, मोबिन महत, द्वितीय तल, जी.ई. रोड, रायपुर, मे दिनांक 08/06/ 2022 को किया गया है, जो की उनके पति दिनेश पटेल की मृत्यु दिनांक 18/04/2021 के उपरांत सभी पेपर पूर्णनता जमा होने पर किया गया l

उक्त कार्यवाही को पूरा करते हुए नेशनल इंश्योरेन्स कंपनी लिमिटेड क्षेत्रीय कार्यालय, मोबिन महत, द्वितीय तल, जी.ई. रोड, रायपुर ने दिनाँक 08/06/2022 को कार्यक्रम रखा गया जिसमें हितग्राही श्रीमती रेवती पटेल जी (नॉमिनी) को प्रशस्ति पत्र दे कर उनके और उनके परिवार की उज्जवल भविष्य की कामना की गई l उक्त कार्यक्रम मे अतिथिगण मे स्वम मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक अमृता मेहता सिन्हा, क्षेत्रीय प्रबंधक राधा कठाले, मैनेजर श्री एस एस भीमटे, डी. मैनेजर रीना सोमन, वरिष्ठ मंडल प्रबंधक श्री पी आर कतलम अन्य अधिकारी- गण और छत्तीसगढ़ विशेष के सम्पादक मनप्रीत सिंग विशेष रूप से उपस्थित हुए l

ज्ञात हो कि प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY) और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY) के तहत अब केवल 07 दिनों के अंदर इंश्योरेंस क्लेम प्रोसेस करना होगा. जिसके लिए अब DM यानी जिलाधिकारी द्वारा अनुमोदित सर्टिफिकेट और नोडल हेल्थ अथॉरिटी की सिफारिश ही पर्याप्त होगी.योजनाओं के अंतर्गत प्रक्रिया और दस्तावेजों की जरूरत को सुगम बनाने के महत्व पर जोर दिया गया है , जिससे इंश्योरेंस क्लेम को तेजी से निपटाया जा सके.

नई व्यवस्था के अन्तर्गत बीमा कंपनियों को अब 30 दिन की बजाय मात्र 07 दिनों के भीतर दावों की प्रोसेसिंग पूरी करनी होगी .जहा बैंकों और बीमा कंपनियों के बीच क्लेम निस्तारण प्रक्रिया का पूरी तरह डिजिटलीकरण किया जाएगा .कागज भेजने में होने वाली देरी को खत्म करने के लिए ईमेल/ ऐप के माध्यम से दावे के दस्तावेज जमा करना होगा .डेथ सर्टिफिकेट मृत्यु प्रमाण पत्र के बदले में इलाज करने वाले डॉक्टर का प्रमाण पत्र और डीएम द्वारा जारी प्रमाण पत्र काफी होगी अब .जिसका मुख्य उद्देश्य इन दावों से अपने नजदीकियों और प्रियजनों को खोने वाले नॉमिनीज को जरूरी वित्तीय राहत देना है .

यही नहीं राज्यों के बाहर दस्तावेज भेजने के कारण होने वाली देरी के मुद्दे के समाधान के लिए भी एक नई व्यवस्था लागू की गई है जहां जिलाधिकारी (डीएम) से जारी एक सरल प्रमाण पत्र और नोडल राज्य स्वास्थ्य अधिकारी का अनुमोदन इन दावों को आगे बढ़ाने के लिए पर्याप्त होंगे2015 में शुरू की गई थी योजनाPMJJBY और PMSBY को बैंकों के माध्यम से क्रमशः सिर्फ 330 रुपये और 12 रुपये के वार्षिक प्रीमियम पर लाभुकों को 2 लाख रुपये के जीवन और दुर्घटना बीमा सुरक्षा उपलब्ध कराने के लिए 2015 में शुरू किया गया था. इसका उद्देश्य असंगठित क्षेत्र में काम रहे ज्यादा से ज्यादा लोगों को महज 1 रुपये प्रति दिन से कम प्रीमियम पर पीएमजेजेबीवाई और पीएमएसबीवाई के तहत पंजीकरण के द्वारा 4 लाख रुपये की वित्तीय सुरक्षा दिया जाना रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

MATS UNIVERSITY

ADMISSION OPEN


This will close in 20 seconds