बारसूर भेंट मुलाकात में ग्रामीणों ने बताई दंतेवाड़ा की बदली तस्वीर

Report manpreet singh

Raipur chhattisgarh VISHESH :आत्मविश्वास से भरी स्वामी आत्मानंद स्कूल की बच्ची ने मुख्यमंत्री से पूछा, क्या मैं भी मुख्यमंत्री बन सकती हूँ, मुख्यमंत्री ने कहा, क्यों नहीं, पहले खूब पढ़ो और जनता की सेवा करो बारसूर के भेंट मुलाकात कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल से लोगों ने किया सीधा संवाद चापड़ा का आनंद लिया, बत्तीसा मंदिर के दर्शन किये, तहसील आफिस में देखा, लोगों को किस तरह मिल रही राजस्व सुविधा कौरगांव में 30 बिस्तर अस्पताल के निर्माण की बड़ी घोषणा, इंद्रावती पार के गांवों को मिलेगी विशेष राहत, बड़े तुमनार होगा उपतहसील

रायपुर, 23 मई 2022 आत्मविश्वास से लबरेज बच्चे, खेती में तरक्की से उत्साहित ग्रामीण और जनजातीय विकास के कार्यों की प्रगति से खुश प्रसन्न ग्रामीणों से आज बारसूर में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने सीधा संवाद किया। बारसूर जैसे सुदूर क्षेत्र में भी इंग्लिश मीडियम स्कूलों की वजह से बच्चे फर्राटेदार इंग्लिश बोल पा रहे हैं और सपने देख रहे हैं। मुख्यमंत्री से आज स्वामी आत्मानंद स्कूल की दसवीं कक्षा की छात्रा तृप्ति नेताम ने कहा कि आप आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल के माध्यम से हमारे लिए शिक्षा की सौगात लाये हैं। आप अच्छे नेता हैं,किसानों के बारे में फैसला करने वाले। मुझे भी मुख्यमंत्री बनना है। मुख्यमंत्री ने कहा, क्यों नहीं। पहले खूब पढ़ो और जनता की सेवा करो। इसी तरह आत्मसमर्पित नक्सली अनिल कुंजाम ने बताया कि मैंने जो स्कूल तोड़ा था, वो स्कूल बनाने में सहयोग किया है।चापड़ा का स्वाद चखा- मुख्यमंत्री ने आज भोजन श्री रामलाल नेगी के घर किया। यहां उन्होंने बस्तर की परंपरागत चापड़ा चटनी का स्वाद चखा। चापड़ा आम के पत्तों पर पलने वाले चींटियों का व्यंजन होता है जो हाट बाजार का सबसे लोकप्रिय व्यंजन है। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने छिंद की चटनी का स्वाद भी लिया। तहसील कार्यालय का निरीक्षण- मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर तहसील कार्यालय का निरीक्षण भी किया। इसका शुभारंभ 31 मार्च को उन्होंने वर्चु्अल किया था। तहसील बनने से 31 गांवों के रहवासियों को सुविधा हुई है। इसके साथ ही इंद्रावती पार के चार गांवों को भी लाभ मिला है। मुख्यमंत्री ने यहां वनाधिकार पत्र का वितरण भी किया। उन्होंने तहसील कार्यालय में पौधा भी रोपा।बत्तीसा मंदिर के दर्शन- मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर बत्तीसा मंदिर के दर्शन भी किये। बत्तीसा मंदिर तेरहवीं शताब्दी का मंदिर है और अपने विशेष स्थापत्य के लिए जाना जाता है। पुजारियों ने इस मंदिर की विशेषता बताई। कौरगांव में तीस बिस्तर अस्पताल- इंद्रावती पार ग्रामीणों को स्वास्थ्य सुविधा देने के लिए महत्वपूर्ण पहल मुख्यमंत्री ने की। उन्होंने 30 बिस्तर अस्पताल की घोषणा कौरगांव में की। बड़े तुमनार को उप तहसील बनाने की घोषणा की। कुण्डेनार में एनीकट एवं रिटेनिंग वाल तथा दुगेली में एनीकट के निर्माण के साथ ही हायर सेकेंडरी स्कूल दंतेवाड़ा के नवीन भवन निर्माण की घोषणा भी उन्होंने की। दंतेवाड़ा शहर में महिला थाना तथा दंतेवाड़ा हाई स्कूल मैदान के जीर्णाेद्धार एवं सौंदर्यीकरण की घोषणा के साथ ही चेरपाल में हाटबाजार की घोषणा भी उन्होंने की। बारसूर के पर्यटन स्थल बूढ़ा तालाब का सौंदर्यीकरण भी कराया जाएगा। क्रमांकः 1274/सौरभ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

MATS UNIVERSITY

ADMISSION OPEN


This will close in 20 seconds