त्रिपुरा में लगातार बदलते राजनीतिक घटनाक्रम में शनिवार को बिप्लब कुमार देव के इस्तीफे के साथ ही अब मानिक साहा त्रिपुरा के अगले मुख्यमंत्री

Report manpreet singh

Raipur chhattisgarh VISHESH नई दिल्ली: त्रिपुरा में शनिवार को तेजी से बदलते राजनीतिक घटनाक्रम में बिप्लब कुमार देव ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया. उनके त्यागपत्र की घोषणा के एक-दो घंटे के भीतर ही ऐलान हो गया कि मानिक साहा त्रिपुरा के अगले मुख्यमंत्री बनेंगे. हालांकि बीजेपी (BJP) सरकार में मंत्री राम प्रसाद पॉल ने इस प्रस्ताव का विरोध किया, इसको लेकर विधायकों के बीच हंगामा खड़ा हो गया. पॉल ने वहां कुछ कुर्सियां भी तोड़ीं और बाद में यह मामला शांत हो पाया. उनका तेज आवाज में चिल्लाते हुए और कुर्सियां पटकते हुए वीडियो भी सामने आया है. पॉल कथित तौर पर उप मुख्यमंत्री जिश्नु देव वर्मा को अगले मुख्यमंत्री के तौर पर देखना चाहते थे, वर्मा शाही परिवार से ताल्लुक रखते हैं. बीजेपी के कुछ और विधायक इस बात से नाराज बताए जाते हैं कि इस पूरे घटनाक्रम को लेकर उनसे कोई सलाह मशविरा नहीं किया गया और केंद्रीय नेतृत्व ने मनमाने तरीके से यह निर्णय़ किया. गौरतलब है कि बिप्लब देब की कार्यशैली से कई विधायक नाराज रहे हैं, तीन विधायकों ने इस कारण इस्तीफा दे दिया था. मानिक साहा को एक महीने पहले ही राज्यसभा के लिए चुना गया था. उनके मुख्यमंत्री चुने जाने के बाद राज्य में एक राज्यसभा सीट भी खाली होगी. यह भी कहा जा रहा है कि बिप्लब देब को राज्यसभा की इस सीट से उम्मीदवार बनाया जा सकता है. पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देव ने ट्वीट कर मानिक साहा को बधाई दी है. उन्होंने लिखा है कि बधाई एवं शुभकामनाएं मानिक साहा जी विधायक दल के नेता के रूप में चुने जाने पर.

बीजेपी नेता भूपेंदर यादव ने तस्वीर ट्वीट कर मानिक साहा को बधाई देते हुए लिखा है कि मानिक साहा जी को त्रिपुरा भाजपा विधायक दल का नेता चुने जाने की बहुत-बहुत बधाई। मुझे पूर्ण विश्वास है कि आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन और आपके नेतृत्व में त्रिपुरा विकास की नई ऊंचाइयों पर पहुंचेगा.बिप्लब कुमार देव ने आज गवर्नर एसएन आर्य को त्यागपत्र सौंप दिया था और उन्होंने कहा था कि उनके लिए पार्टी सर्वोपरि है. बिप्लब कुमार देव ने अपने त्यागपत्र पर कहा था कि पार्टी चाहती है कि वो संगठन की मजबूती के लिए काम करें.त्रिपुरा में अगले साल यानी मार्च 2023 में विधानसभा चुनाव होने हैं. जबकि पिछला विधानसभा चुनाव फरवरी 2018 में हुआ था. त्रिपुरा में 60 सदस्यों वाली विधानसभा है. तब 43 फीसदी वोट हासिल करने के साथ बीजेपी ने 36 सीटें जीतकर पहली बार राज्य में सरकार बनाई थी और वहां लंबे समय से चले आ रहे वामपंथी शासन को खत्म किया था. उस चुनाव में लेफ्ट पार्टियों को महज 16 सीटें ही मिली थीं. डेंटल सर्जन से राजनेता बने मानिक साहा हाल ही में राज्यसभा सांसद बने थे. शनिवार को आनन-फानन में बुलाई गई भाजपा विधायक दल की बैठक के बाद देब ने साहा के नाम की घोषणा की और कहा कि वो नए मुख्यमंत्री को हर तरह का सहयोग देंगे. साहा, त्रिपुरा मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर और विभागाध्यक्ष रह चुके हैं. वो त्रिपुरा क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष भी रह चुके हैं. मानिक साहा 2016 में बीजेपी में शामिल हुए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

MATS UNIVERSITY

ADMISSION OPEN


This will close in 20 seconds