क्या इटली की तरह बढ़ रहे हैं भारत में कोरोना के मामले, आंकड़ों में समझिए क्या है समानता

रिपोर्ट मनप्रीत सिंह

रायपुर छत्तीसगढ़ विशेष : इटली के यह आंकड़े 1 मार्च और 8 मार्च के हैं। वहीं भारत के जो आंकड़े निकाले गए हैं वो 1 अप्रैल और 8 अप्रैल के हैं। यहां हमने जानने की कोशिश की है कि इटली में 1 मार्च से 8 मार्च तक किस रफ्तार में कोरोना फैला, उसी तरह भारत में 1 अप्रैल से 8 अप्रैल तक स्थिति किस तरह बदली हमने इस आंकड़े में समझने की कोशिश की है। कोरोनावायरस इस समय दुनिया भर के साथ भारत के लिए भी चिंता का विषय बना हुआ है। हालांकि भारत राहत की बात यह हैं कि यहां कोरोनावायरस उस तरह नहीं फैला है जैसे इटली, अमेरिका और ब्रिटेन में फैला हुआ है।

लेकिन एक बात है जिसे लेकर हमें सतर्क रहने की जरुरत है क्योंकि भारत में जिस स्पीड में कोरोनावायरस के नए केस सामने आ रहे हैं वैसी ही स्पीड इटली की भी एक महीने पहले थी। वर्ल्ड ओ मीटर वेबसाइट से हमने आंकड़े निकालकर इटली की उस स्थिति को समझने का प्रयास किया, जब वहां कोरोनावायरस शुरूआती दौरा में था। भारत और इटली में कोरोना कनेक्शन वेबसाइट से हमने आंकड़े निकालकर कोरोना की स्पीड को जानने की कोशिश की। इटली के यह आंकड़े 1 मार्च और 8 मार्च के हैं। वहीं भारत के जो आंकड़े निकाले गए हैं वो 1 अप्रैल और 8 अप्रैल के हैं। यहां हमने जानने की कोशिश की है कि इटली में 1 मार्च से 8 मार्च तक किस रफ्तार में कोरोना फैला, उसी तरह भारत में 1 अप्रैल से 8 अप्रैल तक स्थिति किस तरह बदली हमने इस आंकड़े में समझने की कोशिश की है। • 1 मार्च तक इटली में इन्फेक्टेड लोगों की संख्या- 1577 – 1 अप्रैल तक भारत में इन्फेक्टेड लोगों की संख्या 1782 , 8 मार्च तक इटली में इन्फेक्टेड लोगों की संख्या- 6387 – 8 अप्रैल तक भारत में इन्फेक्टेड लोगों की संख्या 5232 • 1 मार्च तक इटली में 48 में लोगों की मौत – 1 अप्रैल तक भारत में 58 लोगों की मौत •• 8 मार्च तक इटली में 366 में लोगों की मौत – 8 अप्रैल तक भारत में 178 लोगों की मौत • 1 मार्च को इटली में 12 लोगों की मौत, 1 अप्रैल को भारत में 23 लोगों की मौत •• 8 मार्च को इटली में 133 लोगों की मौत, 8 अप्रैल को भारत में 18 लोगों की मौत • 1 मार्च को इटली में 573 नए केस आए थे- 1 अप्रैल भारत में 601 •• 8 मार्च को इटली में 1492 नए केस आए थे- 8 अप्रैल भारत में 565 इटली और भारत की इस स्थिति को देखें तो आपको ज्यादा अंतर नहीं दिखेगा। हालांकि भारत के लोगों के लिए अच्छी बात यह है कि यहां इटली के मुकाबले समय पर लॉकडाउन लगा दिया गया है। भारत के सभी नागरिक अगर लॉकडाउन का पालन करें तो यकीनन जो स्थिति इटली में बनी वो भारत में कभी नहीं बनेगी, बशर्ते सरकार के निर्देशों का पालन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *