बारिश के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से 20 लोगों की मौत

Report manpreet singh

Raipur chhattisgarh VISHESH रविवार को गुजरात के कई इलाकों में भारी बारिश के चलते काफी नुकसान हुआ है। मूसलाधार बारिश के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से 20 लोगों की मौत हो गई जबकि कई मवेशियों की भी जान चली गई और लोगों के घर तबाह हो गए। जानकारी अनुसार राज्य के दाहोद जिले में चार, भरूच में तीन, तापी में दो और अहमदाबाद, अमरेली, बनासकांठा, बोटाद, खेड़ा, मेहसाणा, पंचमहल, साबरकांठा, सूरत, सुरेंद्रनगर और देवभूमि द्वारका में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई।

स्थानीय प्रशासन राहत कार्य में जुटा हुआ है, घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना की जा रही है।’ राज्य आपातकालीन संचालन केंद्र (एसईओसी) के एक अधिकारी के अनुसार, गुजरात के विभिन्न हिस्सों से अब तक बारिश से संबंधित कुल 20 मौतें हुई हैं। रविवार को राज्य में हुई बेमौसम बारिश के दौरान बिजली गिरने से सभी मौतें हुईं हैं। एसईओसी अधिकारी ने बताया कि दाहोद जिले में चार, भरूच में तीन, तापी में दो और अहमदाबाद, अमरेली, बनासकांठा, बोटाद, खेड़ा, मेहसाणा, पंचमहल, साबरकांठा, सूरत, सुरेंद्रनगर और देवभूमि द्वारका में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा है कि सोमवार को बारिश की गतिविधि कम होने की उम्मीद है। एसईओसी आंकड़ों के अनुसार, गुजरात के 252 तालुकाओं में से 234 में रविवार को बारिश हुई, सूरत, सुरेंद्रनगर, खेड़ा, तापी, भरूच और अमरेली जिलों में 16 घंटों में 50-117 मिमी बारिश दर्ज की गई, जिससे सामान्य जीवन अस्त-व्यस्त हो गया। इस बेमौसम बारिश के चलते फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है।

राजकोट के कुछ हिस्सों में ओलावृष्टि हुई। अधिकारियों ने कहा कि फसल को नुकसान पहुंचाने के अलावा, बारिश ने सौराष्ट्र क्षेत्र के मोरबी जिले के सिरेमिक उद्योग को भी प्रभावित किया। आईएमडी के अहमदाबाद केंद्र की निदेशक मनोरमा मोहंती ने कहा कि सोमवार को बारिश कम हो जाएगी और दक्षिण गुजरात और सौराष्ट्र जिलों के कुछ हिस्सों में केंद्रित रहेगी। आईएमडी ने अपने बुलेटिन में कहा कि उत्तर पूर्वी अरब सागर और आसपास के सौराष्ट्र और कच्छ क्षेत्रों के ऊपर बने चक्रवाती परिसंचरण के कारण बारिश हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *